Welcome to egujaratitimes.com!

डायाबिटिश के मरीज को इन्स्युलीन और दवाओं से मिलेगी मुक्ति

अहमदाबाद। अब डायाबिटिश, थाईरोड में नेचरोपेथी की तरह ही डायट प्लानिंग करने से तीन महिना में आपको दवाइयों से मुक्ति मिल जाती है। ऊपर से आपके खाने-पीने की आदतों को बदलने की जरूरत नहीं है।
भारत देश में 26 शहरों में चल रहे डायर क्लिनिक की 27वीं शाखा का शहर में प्रारंभ होने से अब मरिजों को केवल खाने-पीने में परहेज रखकर तथा इसका समय बदलकर ही दवाइयों से मुक्ति मिल जाती हैं। डायर क्लिनिक के फाउण्डर राजीव शेरावत ने बताया कि डायाबिटिस जो सर्वाधिक रुप से फैला रोग हैं । आपकी खाने-पीने की आदत में अधिक बदलाव असंभावित हैं । लेकिन इसका समय और मात्रा में फैरबदल कर सकते हैं । जैसे कि आप रात्रि मेंअधिक मात्रा में तला हुआ आहार लेते हो तो इसे शाम 6.00 बजे के बाद न लें. इसकी मात्रा में अंकुश करना हमारे पास मान्य यूनिवर्सिटी में डायटिशियनो का पाठ्यक्रम करके डिग्री प्राप्त की हो ऐसे डायटीशियन द्वारा ही मार्गदर्शन दिया जाता है। हम फुड एवं ड्रग डिपार्टमेन्ट की सूची में आती हैं ऐसी कोई दवाई दी नहीं जाती । जिससे हमारे ड्रग डिपार्टमेन्ट की दवा पर कोई नियम लागू होता नहीं. डायाबिटिश के पेशन्ट को हमारी पद्धति अपनाने से तीन महिनें में इन्स्युलीन और दवाई लेने से मुक्ति मिल जाती है और वह पहले की तरह चलने लगता हैं।

 

Gujarat's First Hindi Daily ALPAVIRAM's
Epaper

             
   

1

2

3

4

5

6

7

8

9

10

11

12

13

14

15

16

17

18

19

20

21

22

23

24

25

26

27

28

29

30

31

Gujarat's Popular English Daily
FREE PRESS Gujarat's
Epaper

             
   

1

2

3

4

5

6

7

8

9

10

11

12

13

14

15

16

17

18

19

20

21

22

23

24

25

26

27

28

29

30

31

Gujarat's widely circulated Gujarati Daily LOKMITRA's
Epaper

             
   

1

2

3

4

5

6

7

8

9

10

11

12

13

14

15

16

17

18

19

20

21

22

23

24

25

26

27

28

29

30

31

         

 

Contact us on

Archives
01, 02